भाजपा और आरएसएस की विचारधारा में आदिवासी के प्रति घृणा और अपमान है

There is hatred and disrespect towards tribals in the ideology of BJP and RSS.
  • मोहन मरकाम आदिवासी है इसलिये उनका अपमान कर रही है भाजपा
  • प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अरूण साव को कांग्रेस ने भेजा मनोकामना पदयात्रा का निमंत्रण
  • भाजपा अध्यक्ष सच्चे सनातनी हिन्दू और माता दंतेश्वरी के उपासक है तो पदयात्रा में शामिल हो

रायपुर (mediasaheb.com)। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं मनोकामना पदयात्रा के मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने कहा कि भारतीय जानता पार्टी की विचारधारा में आदिवासी समाज के लिये कोई भी स्थान नही है संघ और भाजपा आदिवासियो को हेय दृष्टि से देखती है उनको प्रताड़ित करती है जिसका बड़ा उदाहरण तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय को अंतर्राष्ट्रीय आदिवासी दिवस के दिन अपमानित करके पद से हटाया और अब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं आदिवासीयो के बड़े नेतृत्वकर्ता मोहन मरक़ाम का अपमान भाजपा के अध्यक्ष अरुण साव ने किया। भाजपा अध्यक्ष ने कहा था कि मोहन मरकाम अपने नेता राहुल गाँधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कहाँ था की वे दंतेश्वरी माता के दर्शन करने के लिये एक दिन में पचास किलोमीटर की पदयात्रा करते है। जो सरासर झूठ है और इस बयान का मजाक अरुण साव ने उड़ाया था।चूकि मोहन मरक़ाम एक आदिवासी है। माता दंतेश्वरी के भक्त है इसलिये मोहन मरकाम को अपमानित करने में भाजपा और आरएसएस के नेताओ को आनंद प्राप्त हो रहा है। भाजपा प्रदेशाध्यक अरूण साव ने मोहन मरकाम को झूठा कहां और माता दंतेश्वरी के प्रति उनकी आस्था का मखौल उड़ाया।

मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने बताया की आज जिला कांग्रेस कमेटी कोंडागांव के अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों ने भाजपा अध्यक्ष अरुण साव,नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल को कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम द्वाराकिये जा रहे चार दिवसीय मनोकामना पदयात्रा जिसका उद्देश्य प्रदेश की खुशहाली और समृद्धि की कामना है इस पदयात्रा में शामिल होने का निमंत्रण पत्र  सौपा।संगठन प्रभारी महामंत्री अमरजीत चावला ने बयान दे कर कहा था की कांग्रेसी जो कहते है वो करते है। चावला ने अरुण साव को चैलेंज देते हुवे कहा था की दम है तो वे इस पदयात्रा में शामिल हो और पदयात्रा में शामिल होकर दिखाये। चावला ने ये भी कहा की  भाजपा अध्यक्ष अरुण साव में पचास किलोमीटर पदयात्रा करने का दम नही है।

पदयात्रा के मीडिया प्रभारी विकास तिवारी ने भाजपा अध्यक्ष अरुण साव से आग्रह किया है कि अरूण साव अगर सच्चे सनातनी हिन्दू है और माता दंतेश्वरी की उपासना करते है और सच्चे आदिवासी हितैषी है तो मनोकामना पदयात्रा के प्रथम, द्वितीय या तृतीय दिन की पदयात्रा में जो कि प्रतिदिन लगभग 50 किमी की होगी। प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम के साथ पदयात्रा में शामिल होवे। बस्तर के आदिवासी समाज की अपार आस्था माता दंतेश्वरी में है और भाजपा अध्यक्ष अरुण साव के बयान से समूचे बस्तर के आदिवासियो की आस्था पर कुठाराधात हुवा है। हिन्दू धर्म के नाम पर धंधा करने और वैमनस्यता फैलाने वाले भाजपा नेताओ के ज़हरीले बयान से आदिवासी समाज दुःखी है। भाजपा अध्यक्ष अरुण साव की कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा दिये गये पदयात्रा के निमंत्रण को स्वीकार कर मनोकामना पदयात्रा में शिरकत होना चाहिये अन्यथा बस्तर के आदिवासी समाज और माता दंतेश्वरी के लाखो करोड़ो उपासक भाजपा को कभी माफ नहीं करेंगे।