एक भारत-उन्नत भारत के लिए हो रहा काशी तमिल संगमम : नरेन्द्र मोदी

Kashi Tamil Sangamam happening for One India-Unnat Bharat: Narendra Modi

वाराणसी, (mediasaheb.com) । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में होने वाले ‘काशी तमिल संगमम’ को लेकर उत्साहित हैं। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा है कि ‘एक भारत-उन्नत भारत’ के लिए हो रहा यह अभूतपूर्व आयोजन है। ‘काशी-तमिल संगमम’ एक अनूठा कार्यक्रम है। यह देश के लोगों में गहरे संबंधों को बनाए रखने का अवसर प्रदान करेगा। इस ट्वीट के साथ ही प्रधानमंत्री ने ‘काशी तमिल संगमम’ का एक प्रमोशनल वीडियो भी शेयर किया। वीडियो में वाराणसी और तमिलनाडु के सांस्कृतिक विरासत के बारे में बताया गया है।

इसके बाद प्रधानमंत्री ने प्रदेश के अफसरों के साथ वर्चुअल संवाद कर कहा कि इस पूरे आयोजन को सरकारी के बजाए पूरी काशी का महोत्सव बनाया जाए। संगमम की तैयारियों को लेकर बातचीत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरी काशी में पुरातन आध्यात्मिक संस्कृति के मिलन के क्षण को ऐतिहासिक बनाया जाए। उन्होंने आने वाले अतिथियों के सेवा और सत्कार पर जोर देते हुए कहा कि तमिलनाडु और वहां से काशी आने वाले अतिथियों का ऐसा स्वागत हो कि पूरी दुनिया उसकी साक्षी बने। तमिलनाडु और काशी की सांस्कृतिक विरासत के मिलन के इस अनूठे आयोजन में मेहमानों को पूरा सत्कार मिले। आतिथ्य परंपरा के अनुसार हम आने वाले अतिथियों को पूरा सम्मान दें और वहां की परंपराओं से काशी को जोड़ने का प्रयास करें।

इस आयोजन के संदर्भ में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार रात तमिल में ट्वीट कर कहा कि काशी हो या तमिलनाडु, हमारी संस्कृति, आध्यात्मिकता और दर्शन की विरासत एक ही है। काशी तमिल संगमम इस ‘एकीकृत राज्य’ की पवित्र और समृद्ध भावना को व्यक्त करने का एक अनूठा अवसर है।

प्रधानमंत्री मोदी इस आयोजन में शनिवार को उपस्थित रहेंगे। प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर और ‘काशी तमिल संगमम’ की तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान गुरुवार रात को ही काशी पहुंच गये। प्रधान ने काशी तमिल संगमम के आयोजन स्थल बीएचयू एंफीथिएटर ग्राउंड का निरीक्षण किया। यहां पर चल रही तैयारियों को देखा और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान बीएचयू कुलपति प्रो. सुधीर कुमार जैन, कमिश्नर कौशल राज शर्मा, पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश और जिलाधिकारी एस राजलिंगम भी मौजूद थे।(हि.स.)